ई कॉमर्स (E-commerce) क्या है ? ई-कॉमर्स के फायदे और नुकसान क्या है

आज के दौर में अधिकतर चीजों को ऑनलाइन ही किया जाने लगा है | जिसके लिए तरह-तरह की वेबसाइट और मोबाइल ऐप मौजूद है | ऐसी ही एक वेबसाइट और ऐप ई-कॉमर्स का है, जिसे ऑनलाइन शॉपिंग के लिए इस्तेमाल किया जाता है | ई-कॉमर्स किसी भी तरह के ऑनलाइन रिटेल या ऑनलाइन शॉपिंग के साथ इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर को भी संदर्भित करता है | पिछले कुछ समय में ई-कॉमर्स की लोकप्रियता में काफी वृद्धि हुई है, जिस वजह से यह पारंपरिक खरीददारी की जगह ले रहा है |

यह ई-कॉमर्स आपको ऑनलाइन ही उत्पाद खरीदने और बेचने के लिए सक्षम बनाता है | किन्तु बहुत से लोग अभी भी ई-कॉमर्स का इस्तेमाल बहुत ही कम करते है, तथा बहुत से लोगो को ई-कॉमर्स के बारे में जानकारी भी नहीं है | इस लेख के माध्यम से ईकॉमर्स (E-commerce) क्या है, तथा ई-कॉमर्स के फायदे और नुकसान क्या है, इसके बारे में बताया जा रहा है |

भारत में करने के लिए सबसे सफल स्मॉल बिज़नेस आइडिया 

ई कॉमर्स (E-commerce) क्या है (E-commerce Kya Hai)

ई-कॉमर्स को इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स भी कहते है | E-commerce इलेक्ट्रॉनिक और इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन उत्पादन खरीदने बेचने, ऑनलाइन फंड ट्रांसफर करने और डेटा शेयर करने की प्रक्रिया है| ई-कॉमर्स वेबसाइट के जरिये आप फिजिकल प्रोडक्ट्स के साथ-साथ इलेक्ट्रॉनिक गुड्स खरीद व व्यापार कर सकते है| सरल भाषा में कहे तो इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन शॉपिंग करना ही ई-कॉमर्स है | आप ई-कॉमर्स के जरिये फिजिकल प्रोडक्ट (किचन आइटम, फर्नीचर, इंडस्ट्री मशीनरी),डिजिटल गुड्स (ई-बुक्स, ई-पेपर, ई-मैगजीन्स, ग्राफिक्स, विडियो कोर्स, पेंटिग्स) तथा  राइटिंग, टीचिंग, लीगल एडवाइस, हेल्थ एडवाइस, कंसल्टेंसी जैसी सेवाओं का लाभ ले सकते है|

दुकान और सामान क्रेता के मध्य की दूरी को ई-कॉमर्स ने एक क्लिक में समेत दिया है | आपको केवल उस वस्तु को चुनना होता है, जिसे आप लेना चाहते है | इसके बाद चीज की कीमत का भुगतान करे और आपकी शॉपिंग हो जाती है | इसमें आपको न दुकान जाने की जरूरत होती है, और न ही पैसे गिनने की | ई-कॉमर्स द्वारा शॉपिंग करना इतना ही आसान है | आज के समय में बहुत सी ऐसी कंपनिया है, जिन्होंने ई-कॉमर्स द्वारा ऑनलाइन शॉपिंग के स्तर को शीर्ष पर पंहुचा दिया है | जिसमे Amazon, FlipKart, Alibaba, BigBasket, Walmart, Paytm Mall, Snapdeal, WalMart, Myntra, ShopClues कंपनिया शामिल है, जिन्होंने ग्राहक और व्यापारी दोनों के लिए ही आसान पहुँच सुनिश्चित कर दी है |

ई-कॉमर्स वेबसाइट और मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से किया गया शॉपिंग का भुगतान पेमेंट गेटवे, Inventories, SSL Certificates, Encrypting Technologies, Taxes के साथ एकीकृत कर किया जाता है | ताकि शॉपिंग के दौरान ग्राहक से किसी तरह की धोखाधड़ी न हो सके और उसे बैठे-बैठे सारी सेवाओं का लाभ एक जगह पर ही मिल सके |

ई-कॉमर्स के लाभ (E-commerce Benefits)

  • आप देश व दुनिया के किसी भी स्थान में रहकर उत्पाद की बिक्री व खरीद कर सकते है, इससे वस्तुओ का प्रदान ज्यादा से ज्यादा ग्राहकों तक हो पाता है |
  • ई-कॉमर्स किसी अनुसूची पर नहीं चलता है, आप किसी भी समय एक पारंपरिक स्टोर ढूंढ सकते है, जो ग्राहक के लिए 24/7 घंटे खुला रहता है | वेबसाइट हर समय खुली रहती है, जिस वजह से ग्राहक जब चाहे तब चीजों की खरीद कर सकता है |
  • इसमें भौतिक दुकान की जरूरत नहीं होती है, जिस वजह से दुकान पर लगने वाली लागत की बचत होती है | इसके अतिरिक्त उपभोक्ता के साथ आपूर्तिकर्ता अपने साथ लाता है, जिस वजह से उत्पादन लागत भी नहीं लगती है |
  • बाजार का अधिक विस्तार होना और कम लागत लगने की वजह से पारंपरिक स्टोर की तुलना में अधिक मार्जिन प्राप्त हो जाता है | इसमें उत्पादन की बिक्री अधिक होती है, तथा पैसा भी अधिक बनाया जाता है |
  • ई-कॉमर्स में आप एक समय में एक साथ अनेको ग्राहकों को अपना सामान बेच सकते है, जबकि भौतिक दुकान में ग्राहक सिमित संख्या में होते है |
  • ग्राहक अपनी जरूरत के अनुसार वस्तु को बुक कर अपने घर पर मंगा सकते है | यह  सुविधा उन लोगो के लिए सबसे बेहतर है जो अधिक समय तक अपने काम में व्यस्त रहते है |
  • इसमें ग्राहक अपने द्वारा चुनी गयी वस्तु की कीमत को कई वेबसाइट पर जाकर कंपेयर कर सकते है | जिससे उन्हें बेहतरीन उत्पादन खरीदने में सहायता मिलेगी साथ ही कूपन और डिस्काउंट का भी लाभ उठा सकते है |
  • ई-कॉमर्स उन लोगो के लिए भी एक अच्छा विकल्प है, जिनके पास व्यापार करने के लिए पर्याप्त स्थान नहीं होता है, क्योकि फिजिकल स्टोर लीज पर लेना काफी महंगा पड़ता है | वह अपने व्यापार को ई-कॉमर्स पर शुरू कर सकते है |
  • परंपरागत व्यापार जैसे किसी तरह की दुकान का क्षेत्र काफी सिमित होता है, किन्तु इस पर दुनिया भर के कंज्यूमर अपने उत्पाद और सर्विसेस को बेचते है |
  • इसमें भुगतान के लिए नकद के अलावा इलेक्ट्रॉनिक या मोबाइल ट्रांजेक्शन जैसे फ़ास्ट पेमेंट का इस्तेमाल किया जाता है |

स्मॉल फाइनेंस बैंक क्या है 

ई-कॉमर्स के नुकसान (E-commerce Disadvantages)

  • इंटरनेट के माध्यम से किसी भी तरह का प्रोडक्ट खरीदने में विश्वास की कमी होती है, क्योकि भौतिक दुकान की अपेक्षा इसमें हम किसी भी प्रोडक्ट को छूकर नहीं देख सकते है, इसलिए अक्सर ही उत्पादन में गड़बड़ होने की शंका बनी रहती है |
  • इसमें प्रोडक्ट खरीदने के लिए व्यक्ति के पास इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए | देश की एक बड़ी संख्या इंटरनेट का इस्तेमाल करती है, किन्तु अभी भी कुछ लोग ऐसे है, जो आज भी इससे वंचित है |
  • ई-कॉमर्स से किसी भी चीज़ को खरीदने के लिए आपके पास तकनीकी ज्ञान होना चाहिए, तभी आप किसी चीज के लिए आर्डर कर सकते है, और ऑनलाइन पेमेंट कर सकते है |
  • ई-कॉमर्स द्वारा खरीदने गए प्रोडक्ट को प्राप्त करने में आपको कुछ दिन तक इंतजार करना होता है, वही भौतिक दुकान में आपको वस्तु तुरंत ही प्राप्त हो जाती है | नुकसान की तुलना में ई-कॉमर्स के फायदे अधिक है, जिस वजह से यह कंपनिया तरक्की कर रही है, और लोगो के विश्वास पर भी खरी उतर रही है |

ई कॉमर्स वेबसाइट लिस्ट (E-Commerce Websites List in Hindi)   

भारत में इ कॉमर्स का व्यापार वर्तमान समय में बहुत अधिक प्रचलित है, जिनकी कुछ प्रमुख वेबसाइटस के नाम इस प्रकार है:- 

एमएसएमई क्या है