Check IPO Allotment | ऑनलाइन आईपीओ अलॉटमेंट कैसे चेक करें [आवेदन की स्थिति]

आज के डिजिटल युग में शेयर मार्केट को काफी अधिक महत्व दिया जाने लगा है | आईपीओ (IPO) एक शेयर मार्केट है, जिसमें जिसमें छोटी छोटी कंपनियां अपने बिजनेस ग्रोथ के लिए शेयर को पहली बार जनता के समक्ष पेश करती है। ताकि उनके शेयर्स को लोग खरीद सके और कम्पनी को अपने बिजनेस ग्रोथ के लिए पूँजी मिल जाएँ |

जो लोग आईपीओ के शेयर खरीदते हैं, उन्हें कम्पनी के शेयर के मुताबिक कुछ हिस्सेदारी मिलती है। क्या आप जानते है कि ऑनलाइन आईपीओ अलॉटमेंट कैसे चेक करें? यदि आपको इसकी जानकारी नही है, तो हम आपको यहाँ ऑनलाइन आईपीओ अलॉटमेंट आवेदन की स्थितिचेककरने के बारे में पूरी जानकारी प्रदान कर रहे है | 

आईपीओ (IPO) क्या होता है ?

आईपीओ आवंटन की स्थिति क्या है (IPO Allocation Status)

आईपीओ आवंटन स्थिति एक आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO) में निवेशक को आवंटित शेयरों की संख्या के बारे में विवरण प्रदान करती है। आईपीओ आवंटन प्रक्रिया आईपीओ के रजिस्ट्रार द्वारा की जाती है। आईपीओ आवंटन तिथि वह तारीख है, जब आईपीओ के रजिस्ट्रार की वेबसाइट पर जनता को आवंटन की स्थिति की घोषणा की जाती है।

आईपीओ आवंटन गणना रजिस्ट्रार द्वारा आवंटन दस्तावेज के आधार पर प्रकाशित की जाती है। एक बार आवंटन हो जाने के बाद निवेशक रजिस्ट्रार की वेबसाइट (link intime, karvy) पर जाकर आईपीओ आवंटन जांच कर सकते हैं ।आईपीओ निवेशकों को ईमेल और एसएमएस के माध्यम से बीएसई, एनएसई, सीडीएसएल और एनएसडीएल द्वारा नए आईपीओ आवंटन की स्थिति के बारे में भी सूचित किया जाता है।

ऑनलाइन आईपीओ अलॉटमेंट कैसे चेक करें (How to Check IPO allotment Online)

  • आईपीओ आवंटन (Allotment) स्टेटस अर्थात स्थिति की जानकारी के लिए सर्वप्रथम आपको वेबसाइट https://kcas.kfintech.com/ipostatus/ पर जाना होगा |
  • अब आपके सामनें होम पेज ओपन होगा, यहाँ आपको Select IPO के अंतर्गत उस कंपनी के नाम को सेलेक्ट करना होगा, जिस कम्पनी का आईपीओ आपके द्वारा लिया गया है |
  • अगले स्टेप में आपको आईपीओ स्टेटस चेक करने के लिए  Applicant no., Demat Account, PAN यह 3 आप्शन मिलेंगे | आप अपनी सुविधा के मुताबिक इनमे से किसी एक आप्शन को चुन सकते है |
  • अगले स्टेप में Enter Application Number के अंतर्गत आपको एप्लीकेशन नंबर फिल करना होगा |
  • अब आपको Enter Captcha के अंतर्गत आपको कैप्चा कोड इंटर करना होगा, जो कि साइड में दिया गया होगा |
  • यहाँ पूछी गयी समस्त डिटेल इंटर करने के पश्चात सबसे अंत में आपको Submit पर क्लिक करना होगा |
  • सबमिट पर क्लिक करते ही कुछ सेकेंड्स के अन्दर आपको आईपीओ एलॉटमेंट की स्थिति स्क्रीन पर दिख जाएगी |

इस प्रकार आप PAN Card द्वारा आईपीओ आवंटन (Allotment) का स्टेटस चेक कर सकते है | इसके अलावा आप Applicant no और Demat Account के माध्यम से भी आईपीओ अलाटमेंट स्टेटस चेक कर सकते है| भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) की गाइडलाइन के आपके पास आईपीओ आवंटन की इनफार्मेशन ईमेल द्वारा भेजी जाएगी |

शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाए ?

बीएसई पर आईपीओ आवंटन स्थिति की जांच कैसे करें (Check IPO Allocation Status on BSE)

  • BSE वेबसाइट पर आईपीओ अलाटमेंट स्टेटस चेक करने के लिए आपको बीएसई कीवेबसाइट https://www.bseindia.com/investors/appli_check.aspx पर जाना होगा |
  • यहाँ सबसे पहले आपको Issue Type के अंतर्गत Equity और Debt यह 2 आप्शन मिलेंगे, जिसकी सहायता से आप आईपीओ अलाटमेंट स्टेटस चेक कर सकते है |
  • अब आपको अपना Application No या Pan No फिल करना होगा |
  • अब आपको I am not Robot के सामने टिक का निशान लगा कर Search पर क्लिक करना होगा |
  • अब आपके सामनें आईपीओ अलाटमेंट स्टेटस आ जायेगा |

भारत में शीर्ष आईपीओ पंजीयक (Top IPO Registrars in India)

लिंक इनटाइम (Link intime) और केफिन टेक्नोलॉजीज मेनलाइन (Keffin Technologies Mainline) आईपीओ को सेवाएं प्रदान करते हैं | जबकि सभी सूचीबद्ध रजिस्ट्रार एसएमई आईपीओ को सेवाएं प्रदान करते हैं। दरअसल यह आईपीओ सदस्यता डेटा के आधार पर गणना करने के साथ ही अपनी वेबसाइट पर आईपीओ आवंटन स्थिति अपलोड करते हैं। निवेशक अलॉटमेंट की तारीख को वेबसाइट पर जाते हैं और चेक करते हैं, कि उन्हें शेयरों का आवंटन मिला है या नहीं। बिगशेयर सर्विसेज ने दूसरे स्थान पर लिंक इनटाइम के साथ जुड़े 300+ आईपीओ को सेवाएं प्रदान करता है, जबकि केफिन टेक्नोलॉजीज अब तक 225+ आईपीओ को सेवाएं प्रदान करती है।

लिंक इनटाइम इंडिया प्राइवेट लिमिटेडआईपीओ आवंटन लिंक
केफिन टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेडआईपीओ आवंटन लिंक
बिगशेयर सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेडआईपीओ आवंटन लिंक
कैमियो कॉर्पोरेट सर्विसेज लिमिटेडआईपीओ आवंटन लिंक
स्काईलाइन फाइनेंशियल सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेडआईपीओ आवंटन लिंक

शेयर मार्किट या शेयर बाज़ार क्या है ?

आईपीओ सार्वजनिक होने का क्या मतलब है (What Does It Mean to be Public?)

आईपीओ या इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग से तात्पर्य उस प्रक्रिया से है, जहां कोई भी निजी कंपनी स्टॉक एक्सचेंजों में सार्वजनिक रूप से सूचीबद्ध हो जाती है। जब कोई कंपनी अपने आईपीओ की घोषणा करती है, तो इसका मतलब है कि उसके शेयरों को निजी लोगों की एक छोटी संख्या के पास रखने के बजाय, शेयरों को अब पहली बार जनता के लिए पेश किया जाएगा। यह बदले मेंकंपनी के शेयरों को एक्सचेंजों में स्वतंत्र रूप से कारोबार करने की अनुमति प्रदान करता है। आईपीओ खुलने के बाद,आईपीओ की पेशकश करने वाली कंपनियां सार्वजनिक रूप से सूचीबद्ध कंपनियां बन जाती हैं।

हालांकि, आईपीओ के लिए अर्हता प्राप्त करने से पहले, कंपनी को भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) के साथ पंजीकरण करना होगा और शेयरों को बेचने की प्रक्रिया में सहायता के लिए अंडरराइटर्स की नियुक्ति करनी होगी। सेबी द्वारा आगे बढ़ने के बादआईपीओ व्यक्तिगत निवेशकों के लिए खुला है। इसके अलावाआईपीओ इश्यू के बंद होने के बाद शेयरों को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध किया जाता है, साथ ही कंपनी सार्वजनिक रूप से सूचीबद्ध हो जाती है।

कंपनी सार्वजनिक होने का फैसला क्यों करती है (Why does The Company Decide to Go Public?)

सार्वजनिक रूप से जाना कंपनी के विस्तार और समय के साथ अधिक लाभदायक बनने की खोज करना सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है। चूंकि किसी कंपनी के प्रत्येक संचालन के लिए पूंजी की आवश्यकता होती है, इसलिए धन जुटाने का सबसे अच्छा तरीका आईपीओ है। इसके अलावाएक कंपनी निम्नलिखित कारणों से आईपीओ मार्ग की तलाश कर सकती है-

  • नई इक्विटी पूंजी डालने के लिए।
  • अपनी संपत्ति के व्यापार की सुविधा के लिए।
  • विभिन्न संगठनात्मक आवश्यकताओं के लिए पूंजी जुटाना।
  • अपने निजी हितधारकों के निवेश का मुद्रीकरण करना।

आईपीओ में निवेश करने से निवेशकों को फायदा कैसे होता है (Investors benefit from investing in IPOs)

आदर्श प्रवेश बिंदु (Ideal Entry Point)- आईपीओ निवेशकों को बुल मार्केट में उनके निवेश पर महत्वपूर्ण रिटर्न प्रदान कर सकता है। जो निवेशक छोटी अवधि के लिए निवेश करना चाहते हैं या आगे निवेश के लिए अपनी पूंजी बढ़ाना चाहते हैं, उन्हें त्वरित और लाभदायक रिटर्न के लिए आईपीओ में निवेश करना चाहिए।

प्रारंभिक लाभ (Initial Profit) – अच्छी कंपनियां प्रीमियम पर खुलती हैं और उस कीमत पर जाती हैं जो हमेशा उनके आईपीओ मूल्य से अधिक होती है। आईपीओ निवेश का मतलब होगा कि उन्हें शुरुआती निवेशक लाभ मिलेगा क्योंकि अन्य आईपीओ कीमत पर स्टॉक नहीं खरीद सकते हैं।

ट्रेडिंग अकाउंट क्या होता है ?