किसान क्रेडिट कार्ड से लोन कैसे ले ? ब्याज दर, आवेदन प्रक्रिया, जरूरी डॉक्यूमेंट

किसानों को फायदा पहुंचाने के लिए एनडीए गवर्नमेंट द्वारा वर्ष 1998 में किसान क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुआत की गई थी। इस योजना के जरिए किसानों को उनकी खेती से संबंधित आवश्यकता की पूर्ति के लिए कम अवधि के लिए कम ब्याज दर पर लोन उपलब्ध करवाया जाता है। इस योजना के कारण भारत के किसानों को बेहद अधिक फायदा प्राप्त हुआ है और वर्तमान में भी हर साल कई किसान इस योजना का लाभ ले रहे हैं।

एसबीआई से लोन कैसे प्राप्त करें

केसीसी क्या है ?

KCC सरकार द्वारा किसानों के हितों के किए शुरू की गई एक प्रभावी योजना है। केसीसी योजना के तहत खेती करने वाले किसानों को निम्न ब्याज दर पर किसानों को लोन उपलब्ध करवाया जाता है, जिसका इस्तेमाल वह कृषि कार्यों में विभिन्न गतिविधियों को पूरा करने हेतु कर सकते है।

बता दें इंडिया के कई सारे बैंकों के द्वारा साल 1998 से ही इस योजना का संचालन किया जा रहा है। KCC यानी की किसान क्रेडिट कार्ड जिसे पब्लिक बैंक,सहकारी बैंक और ग्रामीण बैंकों के द्वारा जारी किया जाता है। इस स्कीम के तहत भारत के किसानों को बहुत ही कम ब्याज दर पर लोन दिया जाता है। केसीसी के तहत एक कार्ड भी उन्हें दिया जाता है, जिसका इस्तेमाल करके वह जितने रुपए निकालते हैं, उन्हें सिर्फ उतने रुपए पर ही ब्याज भरना पड़ता है।

KCC योजना का उद्देश्य क्या है ?

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को बेहद सस्ते ब्याज दर पर लोन उपलब्ध करवाना है, ताकि वह अपनी खेती से जुड़े सभी कार्यों को सरलतापूर्वक कर सके।
  • बता दें सिर्फ खेती ही नहीं बल्कि यह योजना किसानों को फूलों की खेती, मछली पालन और डेयरी उद्योग जैसे प्राथमिक कार्यों के लिए भी लोन प्रदान करने की सुविधा प्रदान करती है।

केसीसी योजना की विशेषता क्या है?

  • किसानों की खेती से संबंधित आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) योजना एक क्रेडिट सर्विस प्रदान करती है।
  • इस योजना के तहत किसानों को पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस के तहत मृत्यु होने या फिर परमानेंट विकलांगता हो जाने पर 50,000 तक की सहायता प्राप्त होती है।
  • केसीसी क्रेडिट कार्ड रखने वाला व्यक्ति इस कार्ड से नगद पैसे भी निकाल सकता है अथवा दोबारा से लोन लेने के लिए भी इसका यूज कर सकता है।
  • केसीसी लोन लेने की प्रक्रिया बहुत ही आसान है और लोन लेने के लिए काफी कम दस्तावेज ही किसानों को बैंक में प्रस्तुत करने पड़ते हैं।
  • किसानों को इस योजना के अंतर्गत कितना लोन मिलेगा, यह उनकी जमीन, उनकी इनकम के ऊपर और उनकी क्रेडिट हिस्ट्री के ऊपर डिपेंड होती है।
  • इस योजना को किसान सालाना तौर पर Renew भी करवा सकते हैं या फिर एक साथ ही पूरे पैसे भरकर के इस योजना का अपना अकाउंट बंद भी कर सकते हैं।

केसीसी की ब्याज दर क्या है ?

केसीसी पर ब्याज दर बहुत ही कम होती है, क्योंकि इस योजना का मुख्य उद्देश्य ही यही है कि किसान इस योजना से अधिक से अधिक जुड़ें और अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाएं। अगर हम स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में किसान क्रेडिट कार्ड योजना पर ब्याज दर की बात करें,तो एसबीआई में केसीसी पर तकरीबन 7 परसेंट की सालाना ब्याज दर होती है और जो किसान सही टाइम पर केसीसी योजना के अंतर्गत लिए गए लोन को भर देता है, उसे तीन पर्सेंट की छूट भी मिलती है। इस प्रकार अगर किसान सही टाइम पर अपने केसीसी लोन को भर देता है, तो उन्हें सालाना चार प्रतिशत छूट ब्याज दर में मिलती है।

आधार कार्ड से लोन कैसे ले

केसीसी के लिए डाक्यूमेंट्स क्या है?

केसीसी योजना के अंतर्गत लोन लेने के लिए आपको कुछ डॉक्यूमेंट की आवश्यकता भी पड़ेगी। केसीसी के लिए आपको कौन से डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ेगी, उसकी जानकारी इस प्रकार है।

  • किसान की जमीन की खतौनी 
  • उसका आधार कार्ड 
  • बैंक अकाउंट नंबर
  • चार रंगीन पासपोर्ट साइज की फोटो 
  • पैन कार्ड 
  • मोबाइल नंबर 
  • ईमेल आईडी (अगर उपलब्ध हो तो)
  • इनकम सर्टिफिकेट

केसीसी से लोन कैसे लें?

  • किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अंतर्गत लोन लेने के लिए सबसे पहले आपको उस बैंक की ब्रांच में जाना होगा, जिस बैंक से आप केसीसी के अंतर्गत लोन लेना चाहते हैं। हालांकि इसके लिए यह आवश्यक है कि उस बैंक में आपका बैंक अकाउंट होना चाहिए।
  • बैंक में जाने के बाद आपको बैंक के कर्मचारी से किसान क्रेडिट कार्ड योजना से लोन कैसे लेते हैं,इसके बारे में सबसे पहले तो पूरी इंफॉर्मेशन पता करनी है।
  • सारी जानकारियों को जान लेने के बाद आपको बैंक के कर्मचारी से केसीसी योजना का फॉर्म लेना है और उसमें जो भी जानकारी मांगी गई है,उसे बिल्कुल सही सही भरना है।
  • इसके बाद अपने जरूरी डॉक्यूमेंट को उस एप्लीकेशन फॉर्म के साथ अटैच कर देना है।
  • इसके बाद आपको अपने केसीसी एप्लीकेशन फॉर्म को बैंक के कर्मचारी के पास जमा कर देना है।
  • इसके बाद बैंक के कर्मचारी के द्वारा आपकी एप्लीकेशन फॉर्म की एलिजिबिलिटी को चेक किया जाएगा और अगर आप किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अंतर्गत लोन लेने के लिए पात्र होंगे, तो आपको केसीसी योजना के अंतर्गत लोन प्रदान किया जाएगा।
  • इस प्रक्रिया को पूरी होने में तकरीबन 5 दिन से लेकर 10 दिन तक का समय लग जाता है।

FAQ

क्या किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत कोई इंश्योरेंस भी प्राप्त होता है?

जी हां किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अंतर्गत किसानों को इंश्योरेंस भी प्राप्त होता है, जिसका फायदा किसान 70 साल की उम्र होने तक ले सकते हैं‌।

किसान क्रेडिट कार्ड जारी करने का काम कौन करता है?

इंडिया में सभी पब्लिक बैंक, कोऑपरेटिव बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक किसान क्रेडिट कार्ड जारी करती हैं।

लघु उद्योग के लिए लोन कैसे ले