भारत के सरकारी बैंकों की सूची 2022 | List of Government (PSB) Banks in India

किसी भी देश की अर्थव्यवस्था खर्च और बचत पर आधारित होती है, और इसी के आधार पर यह निष्कर्ष निकाला जाता है, कि देश कि देश की अर्थव्यवस्था कैसी है | बैंक, किसी भी अन्य देश की तरह हमारे देश की अर्थव्यवस्था में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, जिसमें सरकारी, निजी क्षेत्र के बैंक शामिल होते है | भारत में बैंकिंग क्षेत्र में सुधार और आर्थिक विकास को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण नें कुछ बैंकों को विलय करनें की घोषणा की थी, जिसे कुछ समय पश्चात प्रभावी कर दिया गया |

यदि हम देश में सरकारी बैंकों की बात करे, तो सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (Public Sector Banks-PSB) की संख्या विलय के बाद 27 बैंकों से घटकर12 हो गई है। ऐसे में आपके मन में यह प्रश्न आ रहा होगा, कि आखिर इन 12 सरकारी बैंकों के नाम क्या है? भारत के सरकारी बैंकों की सूची के बारें में आपको यहाँ पूरी जानकरी प्रदान की जा रही है |

भारत में कितने प्राइवेट बैंक है 

Table of Contents

सरकारी बैंक किसे कहते है (What is Government Bank)

सरकारी बैंक या सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक वह बैंक है, जो सरकार के स्वामित्व में है,अर्थात जिसमें शेयर का 51 प्रतिशत से अधिक हिस्सा सरकार के पास रहता है। इन बैंको को आम बोल-चाल की भाषा में सरकारी बैंक (Sarkari Bank) कहते है | यह राज्य सरकार और केंद्र के स्वामित्व वाले सरकारी बैंक दोनों हो सकते हैं। उदाहरण के लिए, भारत का सबसे बड़ा सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक भारतीय स्टेट बैंक है, जिसमें 52% सरकारी हिस्सेदारी है।

भारत के सरकारी बैंकों की सूची 2022 (List of Public Sector Banks of India)

भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक या सरकारी बैंक की सूची वर्ष 2021 के अनुसार इस प्रकार है –

क्र०स०   बैंक का नाम मुख्यालय
1.पंजाब नेशनल बैंकनई दिल्ली
2.इंडियन बैंकचेन्नई
3.भारतीय स्टेट बैंकमुंबई
4.केनरा बैंकबैंगलोर
5.यूनियन बैंक ऑफ इंडियामुंबई
6.इंडियन ओवरसीज बैंकचेन्नई
7.यूको बैंककोलकाता
8.बैंक ऑफ महाराष्ट्रपुणे
9.पंजाब एंड सिंध बैंकनई दिल्ली
10.बैंक ऑफ इंडियामुंबई
11.सेंट्रल बैंक ऑफ इंडियामुंबई
12.बैंक ऑफ बड़ौदागुजरात

भारत में सरकारी बैंकों का विवरण (Details of public sector banks in India)

भारत के सभी 12 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के विवरण इस प्रकार है –

पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank)

पंजाब नेशनल बैंक को शार्ट में पीएनबी के नाम से जाना जाता है | पीएनबी भारत सरकार के स्वामित्व वाला एक बैंकिंग और वित्तीय सेवा बैंक है। इस बैंक को वर्ष 1894 में स्थापित किया गया था | पीएनबी में ओबीसी बैंक और यूनाइटेड बैंक का विलय होनें के बाद यह लगभग 18 लाख करोड़ रुपये के साथ भारत का दूसरा सबसे बड़ा सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक बन गया है |  

इंडियन बैंक (Indian Bank)

भारत में इंडियन बैंक की शुरुआत 15 अगस्त 1907 को स्वदेशी आंदोलन के साथ हुई थी | वर्तमान समय में इस बैंक का मुख्यालय चेन्नई में है | 31 मार्च 2019 तक इस बैंक का कुल कारोबार 430,000 करोड़ (US $ 60 बिलियन) रहा | बैंक की सूचना प्रणाली और सुरक्षा प्रक्रिया ISO27001: 2013 मानक से प्रमाणित है |

भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India)

भारतीय स्टेट बैंक का इतिहास लगभग 200 वर्ष पुराना है | इस बैंक को देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक के रूप में जाना जाता है | स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया में भारत सरकार की हिस्सेदारी 50 प्रतिशत से अधिक है। यह बैंक जमा (Saving), लाभ (Benefits), शाखाओं (Branches), ग्राहकों (Customers), संपत्ति (Property) और कर्मचारियों के मामले में अन्य बैंकों की तुलना में सबसे बड़ा है |

भारत में कितने विदेशी बैंक है

केनरा बैंक (Canara Bank)

केनरा बैंक भारत का तीसरा सबसे बड़ा राष्ट्रीयकृत बैंक है और इस बैंक का मुख्यालय बेंगलुरु में है | इस बैंक का इतिहास लगभग 100 वर्ष पुराना है, 31 दिसंबर 2020 तक इसकी 10491 शाखाएं और 12973 एटीएम हैं | हाल ही में सिंडिकेट बैंक का विलय केनरा बैंक में कर दिया गया है |

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (Union Bank of India)

भारत में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की स्थापना 11 नवंबर 1919 को हुई थी | वर्तमान समय में यह बैंक देशभर में अपनी 4200 से अधिक शाखाओं के माध्यम से अपनें ग्राहकों को सेवाएं दे रहा है | सबसे खास बात यह है, कि इस बैंक अपनें 96 वर्षों के संचालन के दौरान निर्बाध लाभ दिखाया है। वर्ष 2021 में इसका आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक में विलय हो गया।

इंडियन ओवरसीज बैंक (Indian Overseas Bank)

इंडियन ओवरसीज बैंक की स्थापना वर्ष 1937 में श्री एम. सी. एम. चिदंबरम चेट्टियार द्वाराकी गई थी। बैंक की सेवाओं में व्यक्तिगत बैंकिंग, कॉर्पोरेट बैंकिंग, एनआरआई खाते, मोबाइल बैंकिंग और इंटरनेट बैंकिंग शामिल हैं, इसका मुख्यालय चेन्नई में है।

यूको बैंक (UCO Bank)

यूको बैंक को पहले यूनाइटेड कमर्शियल बैंक के नाम से जाना जाता था | इस बैंक की वर्ष 1943 में कोलकाता में स्थापित किया गया था, वर्तमान में यह एक राष्ट्रीयकृत बैंक है | वर्ष 2020 में इस बैंक के कारोबार के आधार पर फॉर्च्यून इंडिया 500 की सूची में इसे 80वां स्थान प्राप्त हुआ है।

बैंक ऑफ महाराष्ट्र (Bank of Maharashtra)

बैंक ऑफ महाराष्ट्र पुणे शहर में स्थित एक भारतीय बैंक है। इस बैंक की स्थापना वर्ष 1935 में 10 लाख रुपये की पूंजी के साथ की गई थी। वर्ष 1969 में भारत सरकार द्वारा इस बैंक का राष्ट्रीयकरण कर दिया गया। वर्तमान समय में इस बैंक के पास किसी भी अन्य सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक की तुलना में 1,375 शाखाओं का सबसे बड़ा नेटवर्क है |

पंजाब एंड सिंध बैंक (Punjab & Sind Bank)

पंजाब एंड सिंध बैंक एक भारतीय राष्ट्रीयकृत बैंक है। बैंक की स्थापना 24 जून 1908 को भाई वीर सिंह, सर सुंदर सिंह मजीठा और सरदार तरलोचन सिंह द्वारा अमृतसर में की गई थी।15 अप्रैल 1980 को पंजाब एंड सिंध बैंक उन 6 बैंकों में शामिल था, जिनका भारत सरकार ने राष्ट्रीयकरण कर दिया गया। इस बैंक नें अपनें 100 से अधिक वर्षों के संचालन में, बैंक ने मुख्य रूप से उत्तर भारत में उपस्थिति के साथ अपने शाखा नेटवर्क में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की।

भारत में कितने पेमेंट बैंक है

बैंक ऑफ इंडिया (Bank of India)

बैंक ऑफ इंडिया की स्थापना 7 सितंबर, 1906 को मुंबई के प्रतिष्ठित व्यापारियों के एक समूह द्वारा की गई थी। जुलाई 1969 में 13 अन्य बैंकों के साथ बैंक ऑफ इंडिया का राष्ट्रीयकरण किया गया। वर्तमान में, बैंक ऑफ इंडिया की भारत में 2609 शाखाएँ हैं, जो सभी राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों में अपनी सेवाएं दे रही है |

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank of India)

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया भारत के सबसे पुराने वाणिज्यिक बैंकों में से एक है, इसका मुख्यालय मुंबई में है | सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के संस्थापक सर सोराबजी पोखनावाला थे | भारत सरकार द्वारा इस बैंक का राष्ट्रीयकरण वर्ष 1969 में किया गया था।

बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda)

बैंक ऑफ बड़ौदा भारत के सबसे प्रमुख बैंकों में से एक है | इस बैंक की स्थापना 20 जुलाई 1908 कोबड़ौदा के तत्कालीन महाराज सयाजीराव गायकवाड़ III के द्वारा 10 लाख रुपये की पूंजी के साथ की गयी थी | 19 जुलाई 1969 को भारत सरकार द्वारा 13 अन्य वाणिज्यिक बैंकों के साथ बैंक ऑफ बड़ौदा का राष्ट्रीयकरण किया गया था।

All Bank Miss Call Balance

बैंकों का राष्ट्रीयकरण 2022 (Nationalization Banks List)

आधुनिक युग में बैंकिंग औपनिवेशिक काल (Colonial Period) में बैंक ऑफ हिंदुस्तान (Bank of Hindustan) की स्थापना के साथ शुरू हुई, जिसकी स्थापना वर्ष 1770 में हुई थी। स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात भारत सरकार ने देश के आर्थिक विकास (Economic Development) में सुधार के लिए कई कदम उठाए और एक प्रमुख उन्होंने जो कदम उठाए वह अप्रैल 1935 में आरबीआई की स्थापना की गयी थी। बाद में वर्ष 1948 में आरबीआई अधिनियम की शर्तों के अंतर्गत उन्होंने बैंकों का राष्ट्रीयकरण करने का निर्णय लिया और फिर 1949 में नोटिस दिया।

स्वतंत्रता के बाद बैंकिंग क्षेत्र को भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा विनियमित किया जा रहा था, जो कि केंद्रीय प्राधिकरण है। इस समय तक केवल भारतीय स्टेट बैंक एक प्रमुख सरकारी बैंक था और शेष निजी स्वामित्व वाले थे। भारतीय अर्थव्यवस्था की आवश्यकता को पूरा करने के लिए 1969 और 1980 में बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया।

RBI Approved Loan Apps List

बैंकों का राष्ट्रीयकरण क्यों किया गया (Why Banks were Nationalized)

बैंक राष्ट्रीयकरण एक नीतिगत निर्णय है, जो कुछ लक्ष्यों को ध्यान में रखकर किया जाता है। केंद्र सरकार समय-समय पर बैंकों का राष्ट्रीयकरण कर सकती है। हालांकि उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए कि नीतिगत आह्वान के रूप में राष्ट्रीयकरण ने 1991 के उदारीकरण के बाद सरकारों का पक्ष खो दिया है। वर्ष 1991 और 1998 में बैंकिंग सुधारों पर नरीमन समिति (Nariman Committee) ने भारत में और अधिक निजी बैंकों को बुलाया है।

सरकारी बैंकों का महत्व (Public Sector Banks Importance)

किसी भी देश के लिए सबसे महत्वपूर्ण संपत्तियों में से एक उसकी मुद्रा प्रणाली है। भारत जैसे विशाल देश के लिए, जनता के लिए उधार देने और उधार लेने की प्रणाली के लिए उचित बुनियादी ढाँचा होना आवश्यक हो जाता है। भारत की बैंकिंग प्रणाली की व्यापक पहुंच है, जो हर घर को सहायता प्रदान करती है, चाहे वह शहरी हो या ग्रामीण। भारत में राष्ट्रीयकृत या सरकारी बैंकों की भूमिका की उपेक्षा नहीं की जा सकती है। यह सरकारी बैंक इतनी बड़ी बैंकिंग प्रणाली के लिए एक मजबूत आधारभूत आधार के रूप में कार्य करते हैं।

भारत में सरकारी बैंक कई परिवारों को दैनिक रोटी देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इतना ही नहीं, सरकारी बैंक पूंजी निवेश रणनीतियों में औद्योगिक घरानों के लिए एक प्रमुख पार्टी के रूप में कार्य करता है। भारत में ऊपर बताए गए 12 सरकारी बैंक अपनी छोटी, मध्यम या लंबी अवधि की धन संबंधी जरूरतों के लिए सर्वोत्तम धन स्रोतों की पेशकश करने के लिए तालमेल के साथ काम करते हैं। MSMEx MSMEs और छोटे व्यवसायों के लिए एक एड-टेक प्लेटफॉर्म है। MSMEx विशेषज्ञ भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों से सर्वोत्तम विकल्प चुनने में मदद करते हैं।

बैंकों के बारे में आश्चर्यजनक तथ्य (Amazing Facts About Banks)

  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank of India) भारत का सबसे बड़ा और सबसे पुराना वाणिज्यिक बैंक (Commercial Bank) है। इस बैंक की स्थापना वर्ष 1911 में हुई थी।
  • केनरा बैंक (Canara Bank) वर्ष 1906 में स्थापित सबसे बड़े राष्ट्रीयकृत सार्वजनिक क्षेत्र (Nationalized Public Sector) के बैंकों में से एक है।
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB) की स्थापना वर्ष 1894 में हुई थी। वर्तमान समय में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (Oriental Bank of Commerce) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (United Bank Of India) का पीएनबी में विलय हो गया है।
  • स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI) ने पिछले वित्त वर्ष में 2110 अरब रुपये का राजस्व अर्जित किया।
  • पंजाब एंड सिंध बैंक (Punjab and Sind Bank) की पूरे भारत में 1559 शाखाएँ (Branches) हैं, जिनमें से 623 ब्रांचेज पंजाब राज्य में हैं।

भारत में Fake Instant Loan Apps की सूची