भारत में कितने विदेशी बैंक है | List of Foreign Banks in India 2022

भारत में सबसे पहली बैंक वर्ष 1786 में “The General Bank Of India” के नाम से संचालित की गयी थी | इसके पश्चात वर्ष 1806 में बैंक ऑफ़ बंगाल (Bank of Bengal की स्थापना हुई), जिसे वर्तमान समय में भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के नाम से जाना जाता है | वर्तमान समय में हमारे देश में विभिन्न प्रकार के पब्लिक बैंक (Public Bank), प्राइवेट सेक्टर के बैंक (Private Sector), विदेशी बैंक (Foreign Banks), पेमेंट बैंक (Payments Banks) आदि है, जिन्हें भारतीय रिजर्व बैंक अर्थात आरबीआई शासित किया जाता है |

दरअसल भारतीय रिज़र्व बैंक ने वर्ष 1935 में भारतीय बैंकों को औपचारिक रूप से विनियमित करने का औचित्य संभालाथा। क्या आप जानते है, कि भारत में कितने विदेशी बैंक है ? यदि आपको इसकी जानकारी नहीं है, तो आपको यहाँ विदेशी बैंकों के नाम और उनकी सूची भी दे रहे है अर्थात List of Foreign Banks in India 2022.

भारत में कितने पेमेंट बैंक है

भारत में विदेशी बैंक (Foreign Banks in India)

भारत में अनेक प्रकार के बैंक है, जिनमें विदेशी बैंक भी शामिल है | भारतीय अर्थव्यवस्था में इस सभी बैंकों का अहम् रोल है | यदि हम विदेशी बैंकों की बात करे, तो इन्हें अंतर्राष्ट्रीय बैंक के नाम से जाना जाता है | एक अंतर्राष्ट्रीय बैंक एक वित्तीय संस्थान है, जो अपने मूल देश के बाहर से अंतर्राष्ट्रीय उपभोक्ताओं को वित्तीय सेवाएं प्रदान करता है। इस प्रकार के बैंकों का मुख्यालय अन्य किसी देश में होता है, परन्तु उनकी एक ब्रांच भारत में कार्य करती है | हालाँकि इन सभी बैंकों को अपनें देश के साथ-साथ भारतीय नियमों का भी पालन करना पड़ता है | भारतीय रिजर्व बैंक (14 जुलाई 2020 तक) के अनुसार, अब तक भारत में 46 विदेशी बैंक हैं।

विदेशी बैंक क्या हैं (Foreign Banks Kya Hai)

  • यह बैंक पंजीकृत हैं और इनका मुख्यालय दूसरे देश में है, लेकिन हमारे देश में इनकी शाखाएँ हैं।
  • देश के कुल शाखा नेटवर्क में विदेशी बैंकों की हिस्सेदारी 1% से भी कम है। हालाँकि वह कुल बैंकिंग क्षेत्र की संपत्ति का लगभग 7% और लगभग 11% लाभ का हिस्सा हैं।
  • भारत में विदेशी बैंकों की उपस्थिति के संबंध में आरबीआई की नीति दो मूलभूत सिद्धांतों पर आधारित है-
  • पारस्परिक
  • उपस्थिति का एकल तरीका
  • पारस्परिकता से तात्पर्य यह है, कि भारत में विदेशी बैंकों के साथ राष्ट्रीय व्यवहार तभी किया जाता है जब उनका गृह देश भारतीय बैंकों को स्वतंत्र रूप से शाखाएँ खोलने की अनुमति प्रदान करता है।
  • उपस्थिति के एकल तरीके से आरबीआई का मतलब है, कि भारत में या तो शाखा मोड या पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक (WOS) मोड की अनुमति है।
  • आरबीआई द्वारा विदेशी बैंकों को जारी किए गए अन्य नीतिगत दिशानिर्देशों में शामिल तथ्य इस प्रकार हैं
  • बैंकों को बेसल मानक की अनिवार्य पूंजी पर्याप्तता आवश्यकताओं का पालन करना चाहिए।
  • उन्हें 500 करोड़ की न्यूनतम पूंजी आवश्यकता को पूरा करना होगा।
  • उन्हें सीआरएआर कम से कम 10% रखना चाहिए।
  • भारत में विदेशी बैंकों का प्राथमिकता क्षेत्र लक्ष्य 40% है ।
  • इसके अलावा विदेशी बैंकों को भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी अन्य मानदंडों का पालन करना चाहिए।
  • विदेशी बैंक भी भारत में प्रतिनिधि कार्यालय खोल सकते हैं।प्रतिनिधि कार्यालयों में शाखाओं या एजेंसियों की तुलना में कम अधिकार होते हैं।
  • विदेशी बैंक देश में उपस्थिति स्थापित करने की दिशा में पहले कदम के रूप में अक्सर प्रतिनिधि कार्यालय खोलते हैं।
  • यह कार्यालय भारत में मूल बैंक और उसके ग्राहकों और संवाददाता बैंकों के बीच संपर्क बिंदु के रूप में कार्य करते हैं।
  • वह संभावित ग्राहकों के साथ संबंध बना सकते हैं, लेकिन वे अपने दम पर बैंकिंग लेनदेन नहीं कर सकते।
  • विदेशी बैंक शाखाएं भी उन क्षेत्रों में संचालित होने की अधिक संभावना है, जहां प्रवेश के लिए नियामक बाधाएं कम हैं।
  • वर्तमान में 45 विदेशी बैंक विदेशी बैंक शाखाओं के रूप में और 34 विदेशी बैंक प्रतिनिधि कार्यालयों के रूप में कार्य कर रहे हैं।

पेटीएम एप्प से पैसे कैसे ट्रान्सफर करे

भारत में विदेशी बैंक की सूची (List of Foreign Banks in India 2022)

भारत में विदेशी बैंकों की सूची इस प्रकार है-

क्र०बैंक का नामभारत में शाखाएंमुख्यालय
1.एबी बैंक लिमिटेड1ढ़ाका, बग्लादेश
2.अबू धाबी कमर्शियल बैंक लिमिटेड1अबू धाबी, संयुक्त अरब अमीरात
3.अमेरिकन एक्सप्रेस बैंकिंग कॉर्पोरेशन1न्यूयॉर्क, संयुक्त राज्य अमेरिका
4.ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड बैंकिंग ग्रुप3मेलबोर्न, ऑस्ट्रेलिया
5.बार्कलेज बैंक पीएलसी6लंदन, यूनाइटेड किंगडम
6.बैंक ऑफ अमेरिका4शार्लोट,संयुक्त राज्य अमेरिका
7.बैंक ऑफ बहरीन और कुवैत4मनामा, बहरीन
8.बैंक ऑफ सीलोन1कोलम्बो, श्रीलंका
9.चीन का बैंक1बीजिंग, चीन
10.बैंक ऑफ नोवा स्कोटिया2टोरंटो कनाडा
11.बीएनपी पारिबास8पेरिस, फ्रांस
12.सिटी बैंक NA35न्यूयॉर्क, संयुक्त राज्य अमेरिका
13.कॉपरेटिव राबो बैंकयू.ए1यूट्रेक्ट, नीदरलैंड्स
14.क्रेडिट एग्रीकोल कॉर्पोरेट और निवेश बैंक5पेरिस, फ्रांस
15.क्रेडिट सुइस एजी1ज़्यूरिख, स्विट्ज़रलैंड
16.सीटीबीसी बैंक कंपनी लिमिटेड2नांगंग जिला, ताइपेई, ताइवान
17.डीबीएस बैंक इंडिया लिमिटेड सिंगापुर
18.देउत्शे बैंक17फ्रैंकफर्ट, जर्मनी
19.दोहा बैंक क्यूपीएससी3दोहा, कतार
20.अमीरात बैंक एनबीडी1दुबई, संयुक्त अरब अमीरात
21.अबू धाबी बैंक पीजेएससी1अबू धाबी, यूनाइटेड अरब एमिरेट्स
22.फर्स्टरैंड बैंक लिमिटेड1जोहान्सबर्ग, दक्षिण अफ्रीका
23.एचएसबीसी लिमिटेड26लंदन, इंग्लैंड, यूके
24.इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना लिमिटेड1ज़िचेंग जिला, बीजिंग, चीन
25.इंडस्ट्रियल बैंक ऑफ़ कोरिया1जंग-गु, सियोल, दक्षिण कोरिया
26.जेपी मॉर्गन चेस बैंक NA4न्यूयॉर्क, यूएसए
27.जेएससीवीटीबी बैंक1मास्को, रूस
28.केईबी हाना बैंक2सियोल, दक्षिण कोरिया
29.कूकमिन बैंक1सियोल, दक्षिण कोरिया
30.क्रुंग थाई बैंक पब्लिक कंपनी लिमिटेड1वत्थाना, बैंकॉक, थाईलैंड
31.मशरेक बैंक पीएससी1दुबई, संयुक्त अरब अमीरात
32.मिजुहो बैंक लिमिटेड5चियोदा सिटी, टोक्यो, जापान
33.एमयूएफजी बैंक लिमिटेड5चियोदा सिटी, टोक्यो, जापान
34.नेटवेस्ट मार्केट्स पीएलसी1लंदन, यूनाइटेड किंगडम
35.पीटी बैंक1सेनायन, जकार्ता, इंडोनेशिया
36.कतर नेशनल बैंक (QPSC)1दोहा, कतार
37.सर्बैंक1मास्को, रूस
38.एसबीएम बैंक (इंडिया) लिमिटेड पोर्ट लुइस, मॉरीशस
39.शिनहान बैंक6जंग-गु, सियोल, दक्षिण कोरिया
40.सोसाइटी जनरल2पेरिस, फ्रांस
41.सोनाली बैंक लिमिटेड2ढ़ाका, बग्लादेश
42.स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक100लंदन, इंग्लैंड, यूके‎
43.सुमितोमो मित्सुई बैंकिंग कॉर्पोरेशन2चियोदा सिटी, टोक्यो, जापान
44.यूनाइटेड ओवरसीज बैंक लिमिटेड1सिंगापुर
45.वेस्टपैक बैंकिंग कॉर्पोरेशन1सिडनी, ऑस्ट्रेलिया
46.वूरी बैंक3जंग-गु, सियोल, दक्षिण कोरिया

एनबीएफसी का क्या मतलब होता है

भारत में शीर्ष विदेशी बैंक की सूची और उनका विवरण (List of Top Foreign Banks in India &Details)

भारत में टॉप फॉरेन बैंक की लिस्ट और उनका विवरण इस प्रकार है-

क्र०स०   बैंक का नाम
1.सिटी बैंक
2.स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक
3.एचएसबीसी इंडिया
4.देउत्शे बैंक
5.नेटवेस्ट मार्केट्स पीएलसी
6.डीबीएस बैंक
7.बार्कलेस बैंक
8.बैंक ऑफ अमेरिका
9.बैंक ऑफ बहरीन और कुवैत
10.दोहा बैंक

सिटी बैंक (Citi Bank)

यह न्यूयॉर्क स्थित इंटरनेशनल फाइनेंसियल सर्विसेज कारपोरेशन सिटीग्रुप की सहायक कंपनी है। इस बैंक के अधिकांश कर्मचारी चेन्नई, मुंबई और गुरुग्राम में कार्यरत हैं, जबकि इस बैंक का मुख्यालय मुंबई में स्थित है। सिटीबैंक भारत में एक ऐसा विदेशी बैंक है, जो बहुत ही उच्च स्तर की सेवाएं प्रदान करता है। इसका भारतीय मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र में बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स में है।

स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक (Standard Chartered Bank)

स्टैंडर्ड चार्टर्ड नें वर्ष 1858 में अपनी पहली ब्रांच मुंबई (Bombay), कोलकाता और शंघाई में खोलीथी, इसके पश्चात वर्ष 1859 में इस बैंक नें अपनी शाखाएं हांगकांग और सिंगापुर में ओपन की थी । स्टैंडर्ड चार्टर्ड पीएलसी एक ब्रिटिश मल्टीनेशनल बैंकिंग और फाइनेंसियल सर्विसेज प्रदान करनें वाली फर्म है, जिसका मुख्यालय लंदन और इंग्लैंड में है। इस बैंक में लगभग 87 हजार कर्मचारी कार्य करते है, इसके साथ ही 70 से अधिक देशों में शाखाएँ और आउटलेट मौजूद हैं।

एचएसबीसी बैंक (HSBC Bank)

यह बैंक 2.984 ट्रिलियन डॉलर (दिसंबर 2020 तक) की कुल संपत्ति के साथ यूरोप का दूसरा सबसे बड़ा बैंक है। इस बैंक की स्थापना वर्ष 1991 में हांगकांग और शंघाई बैंकिंग कॉरपोरेशन द्वारा लंदन में एक न्यू ग्रुप होल्डिंग कंपनी के रूप में स्थापित की गई थी। इस बैंक कीभारत में50 से अधिक शाखाएँ हैं| एचएसबीसी बैंक इंडिया एचएसबीसी होल्डिंग्स पीएलसी की सहायक कंपनी है, और यूनाइटेड किंगडम में स्थित है। इसका मुख्यालय मुंबई में है। बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 के तहत, भारतीय रिजर्व बैंक इसे एक विदेशी बैंक (RBI) के रूप में नियंत्रित करता है।

देउत्शे बैंक (Deutsche Bank)

इस बैंक का नेटवर्क भारत के अलावा दुनिया के लगभग 58 देशों में फैला हुआ है, जिसमें 5 लाख कर्मचारी यूरोप, अमेरिका और एशिया में कार्यरत हैं। सबसे कहस बात यह है, कि 18 शाखाओं के साथ, बैंक 11 हजार लोगों को रोजगार प्रदान करता है |

रॉयल बैंक ऑफ स्कॉटलैंड (ROYAL BANK OF SCOTLAND)

इस बैंक की 10 शाखाओं द्वारा दी जाने वाली सेवाओं में फॉरेक्स, कॉर्पोरेट बैंकिंग और इंश्योरेंस शामिल हैं। इसकी 700 से अधिक शाखाएँ होने साथ ही यह दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित बैंकों में से एक है।

डीबीएस बैंक (DBS Bank)

डीबीएस बैंक लिमिटेड सिंगापुर की एक कंपनी है, यह एक मल्टीनेशनल बैंकिंग और फाइनेंसियल सर्विस प्रदान करनें वाली कंपनी है, इसका हेड ऑफिस मरीना बे में है। इस बैंक को एशिया का सबसे सुरक्षित बैंकों में से एक माना जाता है और इसे दुनिया के टॉप  15 में सबसे सुरक्षित बैंकों में स्थान दिया है।

बार्कलेस बैंक (Barclays Bank)

बार्कलेज बैंक का हेड ऑफिस लंदन, इंग्लैंड में है | बार्कलेज को दो डिवीजनों बार्कलेज यूके और बार्कलेज इंटरनेशनल में विभाजित किया गया है | जिसमें बार्कलेज एक्ज़ीक्यूशन सर्विसेज बीच में एक सर्विस फर्म के रूप में कार्य करती है।

बैंक ऑफ अमेरिका (Bank OF America)

बैंक ऑफ अमेरिका कॉरपोरेशन इसे शार्ट में बोफा या बीओए के नाम से जाना जाता है | यह बैंक उत्तरी कैरोलिना के शार्लोट में स्थित एक फाइनेंसियल सेवाएं प्रदान करनें वाली होल्डिंग फर्म है। भारत में इस बैंक की 5 शाखाएं संचालित है, जो दुनिया में 4.9 मिलियन ग्राहकों के साथसबसे बड़े बैंकों में से एक है।

बैंक ऑफ बहरीन एंड कुवैत (Bank Of Bahrain And Kuwait)

बैंक ऑफ बहरीन एंड कुवैत को शार्ट में बीबीके नाम से जाना जाता है | इस बैंक के शेयर होल्डर्स में बहरीन के नागरिक, बहरीन सरकारऔर कुवैती बैंक और अनेक फाइनेंसियल आर्गेनाइजेशन शामिल हैं। भारत में इस बैंक की शाखाएं मुंबई, नई दिल्ली, हैदराबाद में संचालित है |

दोहा बैंक (DOHA Bank)

भारत में दोहा बैंक की पहली शाखा10 जून 2014 को मुंबई मेंखोली थी, जबकि वर्तमान समय में इसकी शाखाएं भारत में निरंतर सेवाएं दे रही है | इस बैंक का एक विशाल नेटवर्क है, जो अपने उपभोक्ताओं को बैंक क्रेडिट के साथ-साथ कई अन्य सेवाएं प्रदान करता है।

फाइनेंस क्या होता है

विदेशी बैंक ऐतिहासिक परिप्रेक्ष्य (Foreign Bank Historical Perspectives)

  • भारत में आज के विदेशी बैंक, जैसे स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक और एचएसबीसी की जड़ें विश्व के साथ एशिया के बढ़ते व्यापार के वित्तपोषण में हैं।
  • स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक के अग्रदूत, चार्टर्ड बैंक ऑफ इंडिया ने महारानी विक्टोरिया से रॉयल चार्टर प्राप्त करने के बाद 1858 में कलकत्ता में एक कार्यालय खोला।
  • हॉन्गकॉन्ग एंड शंघाई बैंकिंग कॉरपोरेशन (HSBC), जिसकी स्वतंत्रता पूर्व भारत में शाखाएँ थीं, बैंक ने वर्ष 1959 में एक महत्वपूर्ण अकार्बनिक कदम उठाया, जब इसने भारत में तत्कालीन मर्केंटाइल बैंक का अधिग्रहण किया।
  • Comptoir d’Escompte de Paris , जो बाद में BNP Paribas बनाने वाली संस्थाओं में से एक बन गयी| इसने वर्ष 1860 में कलकत्ता में परिचालन शुरू किया और अंग्रेजों के बाद देश की दूसरी सबसे बड़ी बैंकिंग उपस्थिति के रूप में फ्रेंच का प्रतिनिधित्व किया।
  • उस समय प्रमुख अमेरिकी बैंकों को संयुक्त राज्य के बाहर काम करने से कानून द्वारा प्रतिबंधित किया गया था। इन कानूनों में ढील ने अमेरिकी बैंकों के लिए बीसवीं सदी की शुरुआत में विश्व स्तर पर विस्तार करने का मार्ग प्रशस्त किया।
  • सिटी बैंक, या द नेशनल सिटी बैंक ऑफ न्यूयॉर्क, जैसा कि उस समय जाना जाता था, ने 1902 में भारत में प्रवेश किया और जेपी मॉर्गन, जिसकी 1902 की शुरुआत में भारत में प्रवेश करने की महत्वाकांक्षा थी, बैंकिंग फर्म एंड्रयू यूल एंड कंपनी लिमिटेड ने 1922 में कलकत्ता के व्यापारी में एक स्वामित्व हिस्सेदारी के माध्यम से ऐसा किया।

Google Pay से पैसे कैसे ट्रान्सफर करे