क्यूआर कोड क्या है ? QR Code से Payment कैसे करे

आज के समय में आपको QR Code हर जगह देखने को मिल जाएगा | डिजिटल भुगतान हो या किसी चीज की जानकारी को स्टोर करने के लिए इस QR Code का इस्तेमाल किया जाता है | लेकिन क्या आपको पता है, कि यह QR Code होता क्या है, और यह कैसे काम करता है, तो आपको बता दे कि यह एक तरह का विशेष पैटर्न होता है, जो स्क्वायर के आकार का बना हुआ होता है | QR Code आपको किसी प्रोडक्ट, Advertisement या Billboards पर देखने को मिल जाएगा इस कोड के अंदर एक URL निर्मित होता है |

जिसे हम अपने स्मार्टफोन से स्कैन कर समझ सकते है | QR Code को ऑनलाइन पेमेंट के लिए भी काफी अधिक इस्तेमाल किया जाने लगा है | एक QR Code में कई तरह जानकारी स्टोर होती है | बहुत से लोगो को अभी भी QR Code के बारे में खास जानकारी नहीं है | यहाँ पर आपको क्यूआर कोड क्या है, QR Code से Payment कैसे करे की जानकारी दी जा रही है |

पेटीएम एप्प से पैसे कैसे ट्रान्सफर करे

QR Code क्या है (QR Code)

यह एक विशेष प्रकार का पैटर्न होता है, जिसमे किसी प्रोडक्ट की पूरी जानकारी स्टोर होती है | लेकिन यह जानकारी छुपी हुई होती है, जिसे Scan कर देखा जा सकता है | इसमें अलावा QR Code में URL, कोई टेक्स्ट या फिर मोबाइल नंबर को भी छुपाया जा सकता है | QR Code का पूरा नाम ‘Quick Response Code’ होता है | जिसे सर्वप्रथम Japan में डेवलप किया गया था | यह दिखने में बिल्कुल Square Bar code जैसा होता है | इसका मकसद एक ऐसे कोड को डेवलप करना है, जिसे आप अपनी आखो से नहीं पढ़ सकते है, इसे पढ़ने के लिए स्कैन करना पड़ता है| यह Bar Code का अपग्रेड वर्जन है, तथा इस QR Code में Bar Code से ज्यादा जानकारियों को रखा जा सकता है |

क्यूआर कोड में क्या-क्या स्टोर कर सकते है (QR Code Stored)

एक QR Code में Bar Code की तुलना में डाटा स्टोर करने की क्षमता काफी अधिक होती है| यह ‘Image-Based Hypertext Link’ होता है, जिसका इस्तेमाल Offline मोड में भी किया जा सकता है | इसमें हम किसी भी तरह के URL को Encode कर सकते है, जिसके बाद जब कोई व्यक्ति इस QR कोड को स्कैन करेगा, तो वह उस Website पर आराम से पहुंच जाएगा |

इसमें अगर आप अपने फेसबुक पेज को लिंक करवाना चाहते है, तो आप उस पेज के URL को QR कोड में जोड़ सकते है, जिसके बाद अगर कोई व्यक्ति उसे Scan करेगा तो वह सीधा आपके Facebook Page में चला जाएगा | इसी तरह से अगर आप किसी तरह का विडियो वायरल करने की सोच रहे है, तो वह भी आप QR कोड की मदद से कर सकते है, इसमें आपको बस उस वीडियो की URL को QR कोड में स्टोर करना होता है | QR Code का उपयोग काफी विस्तृत है|

क्यू कोड की विशेषताए (QR Code Features)

  • इसे आप अपने मोबाइल फ़ोन से आसानी से स्कैन कर सकते है, इसके लिए किसी विशेष तरह के बारकोड रीडर की जरूरत नहीं होती है |
  • यह अनेक सुविधाओं वाला बारकोड है, जिससे तक़रीबन सभी तरह के Alphabets, Numerical और Binary डाटा को कूट (Encode) कर सकते है |
  • अन्य बारकोड की तुलना में QR कोड अधिक तेजी से स्कैन हो जाता है |
  • आप 1D, 2D बारकोड की तुलना में QR Code में अधिक मात्रा में डा टा स्टोर कर सकते है |

क्यूआर कोड के उपयोग (QR Code Uses)

  • QR कोड को विशेषकर व्यवसाय करने के लिए डेवलप किया गया था, जो आज के समय में बिजनेस, विज्ञापन, शिक्षा, मार्केटिंग, संप्रेषण और प्रोद्योगिकी के क्षेत्र में तेजी से इस्तेमाल हो रहा है| यह आपके ऊपर निर्भर करता है, कि आप QR कोड को कब, कहा और कैसे इस्तेमाल करना चाहते है|
  • यह कोड ब्रांड विज्ञापन के लिए भी अधिक इस्तेमाल किया जा रहा है, आज के समय में उपभोक्ता गूगल पर ब्रांड वेबसाइट को टाइप करने की तुलना में QR Code को स्कैन करना अधिक पसंद करते है|
  • इस कोड में Hyperlinks (Web Address) दिया होता है, जिस वजह से इसे मैगजीन, बस और बिज़नेस कार्ड आदि जगहों पर आसानी से देख सकते है | कोई भी व्यक्ति इस QR कोड को स्कैन कर उस विषय से संबंधित जानकारी ले सकते है |
  • वर्ष 2011 में Royal Dutch Mint ने विश्व का पहला QR Code जारी किया था, जिसे मुद्रा में भी इस्तेमाल किया जाता है | आप सिक्के को अपने मोबाइल फ़ोन से स्कैन कर उस सिक्के से जुड़े इतिहास के बारे में जान सकते है |
  • वेबसाइट लॉगिन के लिए भी QR Code का इस्तेमाल होना लगा है | इसमें QR कोड कम्यूटर की स्क्रीन पर दिखाया जाता है, जिसे वेरीफाई यूजर द्वारा स्कैन करने पर ऑटोमैटिक लॉगिन हो जाता है |
  • QR Code में आप क्रेडिट कार्ड और बैंक अकॉउंट की जानकारी भी समाहित कर सकते है | वर्तमान समय में कई वेबसाइट मौजूद है, जिनमे भुगतान को QR Code के माध्यम से कर सकते है |
  • चीन और भारत जैसे विकास शील देशो में इसका इस्तेमाल कर सुविधाजनक रूप से भुगतान कर रहे है, BHIM UPI और नए UPI व Prepaid Vallet इसका उदाहरण है|
  • QR Code की मदद से ऑफलाइन ट्रैकिंग भी की जा सकती है| इसमें आप पत्रिका, बैनर, अखबार तथा वेबसाइट या डिजिटल प्रोडक्ट को ट्रैक किया जा सकता है| ऑनलाइन विज्ञापन के जैसे ही इसमें भी कुछ जानकारिया प्राप्त की जा सकती है, जैसे QR कोड को किस डिवाइस से स्कैन किया गया है, कितने लोगो ने स्कैन किया, नाम और ईमेल एड्रेस भी जान सकते है|
  • बिना नंबर लिए भी SMS भेजा जा सकता है | आपको बस उस व्यक्ति का QR कोड स्कैन करना होता है, जिसके बाद आपके सामने उसका नंबर आ जाएगा, फिर इसमें आप मैसेज कर सकते है| 
  • इस कोड की सहायता से आप अपने घर का पता, ऑफिस, सोशल प्रोफाइल या किसी विशेष स्थान की लोकेशन भी शेयर कर सकते है |
  • आप अपने V-Card/Business कार्ड के पीछे इस कोड को छपवा कर अपना पते की जानकारी को एड कर सकते है |

BharatPe App क्या है ?

क्यू आर कोड स्कैन कैसे करे (QR Code Scan)

अगर आपके पास कोई भी स्मार्टफ़ोन जैसे :- Android, Blackberry या iPhone है, तो आप QR कोड को आसानी से स्कैन कर सकते है| इसके लिए आपको अपने मोबाइल फ़ोन में Bar code Scanner App download करना होता है| आप Bar code Scanner, Red laser और QR Scanner जैसे ऐप का इस्तेमाल कर क्यूआर कोड को आसानी से डिकोड कर सकते है, यह सभी ऐप बिल्कुल मुफ्त में स्कैन करने की सुविधा देता है| आप स्कैनर एप को इनस्टॉल कर ले जिसके बाद एप खोलकर उस कोड को स्कैन कर ले, जिसके बाद वह कोड अपने आप Decode हो जाएगा |

क्यू आर कोड से पेमेंट कैसे करे (QR Code Payment)

  • यदि आप QR Code का इस्तेमाल कर ऑनलाइन भुगतान करना चाहते है, तो उसके लिए आपको उस ऐप पर जाना होता है, जिसके माध्यम से आप पेमेंट करना चाहते है, मान लीजिए आप Paytm का इस्तेमाल करते है, तो सबसे पहले आप Paytm ओपन कर ले |
  • पेटीएम खोलने के बाद आपको Send Money दिखाई देगा, यहाँ पर आपको Scan & Pay का भी विकल्प मिलेगा |
  • यहाँ से आप QR Code स्कैनर खोल ले, और जिस QR कोड पर पेमेंट करना चाहते है, उसे स्कैन कर ले |
  • स्कैन करते ही उस व्यक्ति का नाम लिखा हुआ दिखाई देगा, जिसका पेटीएम अकॉउंट है |
  • इसके बाद पेमेंट अमाउंट डालें और Pay पर क्लिक कर भुगतान कर दे |
  • इस तरह से आप QR Code से सफलतापूर्वक पेमेंट कर सकते है |

क्यूआर कोड और 1D UPC बारकोड में अंतर (QR Code and 1D UPC Barcode Difference)

QR कोड और Barcode दोनों ही देखने में एक दूसरे से बिल्कुल अलग होते है | इसमें बारकोड का कोड वर्टीकल लाइन में होता है, वही दूसरा कोड स्क्वेयर बॉक्स की तरह होता है | QR कोड आप किसी भी डायरेक्शन से स्कैन कर सकते है, जबकि बारकोड को आपको एक ही डायरेक्शन से स्कैन करना होता है |

1D बारकोड (UPC) आपको सिर्फ 30 नंबर स्टोर करने की इजाजत देता है, जबकि QR Code में आप 7089 नंबर्स तक स्टोर कर सकते है | QR कोड की इसी बड़े पैमाने पर भंडारण क्षमता के कारण आप इसमें वीडियो, इमेज और बड़ी फाइल्स को भी आसानी से स्टोर कर सकते है | जिसका इस्तेमाल आप बाद में Twitter, Facebook और अन्य Social Networking Sites पर भी कर सकते है |

क्यूआर कोड की हानियाँ (QR Code Disadvantages)

QR कोड के कई फायदे होने के साथ-साथ इसकी कुछ हानियाँ भी है | इसमें सेक्योरिटी प्रॉब्लम का इस्यू है, जिसमे इसे आसानी से बदला जा सकता है, या फिर यह भी कह सकते है, कि इसमें कुछ खतरनाक चीजे भी डाली जा सकता है |

उदाहरण के तौर पर अगर कोई अटैकर चाहे तो किसी QR कोड पर अपना कोई Malicious URL डालकर उसे किसी ऐसी जगह लगा सकता है, जहां पर ट्रैफिक अधिक मात्रा में हो | जिसके बाद वह इस कोड से किसी के भी मोबाइल पर अटैक कर सकता है, जिससे यूजर को खतरा उठाना पड़ सकता है |

यूपीआई (UPI) क्या होता है ?